रिपोर्ट । पंकज सिंह

चंदौली । पुलिस व आबकारी विभाग की संयुक्त टीम ने गुरुवार को अवैध देशी शराब फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। रेमा गांव में छापेमारी कर एक मकान से भारी मात्रा में अपमिश्रित देशी शराब, नकली रैपर व खाली शीशियां व अन्य सामग्र्री बरामद की गई। पुलिस ने अवैध शराब बनाने के आरोप में चार आरोपित को गिरफ्तार किया। एएसपी दयाराम ने अलीनगर थाने में अवैध शराब बनाने वाले गिरोह का खुलासा किया।

एएसपी दयाराम ने बताया कि गिरोह के सदस्य स्प्रीट को देशी शराब की खाली शीशियों में भरकर उस पर नकली रैपर लगा देते थे। बिहार में शराब बंदी का फायदा उठाकर वहां ऊंचे दाम पर बेच देते थे। वहीं चंदौली जिले में भी जब शराब की दुकानें बंद हो जाती थी, तो झोले में रखकर बेचकर मुनाफा कमाते थे। चारों आरोपित ने बेरोजगारी की वजह से गोरखधंधा शुरू करने की बात कुबूल की।

रेमा गांव निवासी संतोष यादव के मकान में अवैध तरीके से नकली शराब बनाने का कारखाना मिला। मकान के अंदर 177 शीशी अपमिश्रित देशी शराब, चार ड्रम में 750 लीटर स्प्रीट, 30 लीटर अपमिश्रित देशी शराब, 1700 ब्लू लाइन ब्रांड का रैपर, एक बंडल क्यू आर कोड, तीन बोरी में खाली शीशियां, एक झोले में ढक्कन, दो कीप व 12 गत्ता, पांच खाली पिपिया, एक मालवाहक व एक कार बरामद की गई।

आरोपित अलीनगर थाना क्षेत्र के रेमा गांव निवासी संतोष यादव, बृजेश यादव व विनोद यादव और सदर कोतवाली क्षेत्र के लीलापुर निवासी अजीत सिंह उर्फ विक्की को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार करने वाली टीम में थाना प्रभारी संतोष सिंह, आबकारी निरीक्षक ज्ञानप्रताप सिंह, एएसआई रमेश यादव, एसआई श्रीकांत पांडेय, बाबूराम यादव, नीलम त्रिपाठी, ताराचंद्र सिंह समेत अन्य पुलिसकर्मी शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *